Memory Skills: Use Techniques To Bring Magical Changes In Life

You may also like...

  • Aarjev Aahi

    हिन्दी में ‘Cognitive’ को ‘संज्ञान’ कहने पर हमें जोरदार हंसी आती है। अंग्रेजी में यह आसानी से चल जाता है। यह आलेख मस्तिष्क की जिन बारीकियों के बारे में बता रहा है उसमें ‘संज्ञान’ की भूमिका सर्वोपरि है जो हमारे स्मृति, चिन्तन, कल्पना इत्यादि कां संग्राहक और उसका अभिव्यक्ता है। दरअसल, हिन्दी भाषा में ज्ञान आधारित जानकारियों को हमारे उच्चस्थ शिक्षाधिकारियों ने पता नहीं किस सौतिआ डाह से कमत्तर बना रखा है जबकि अंग्रेजी के सिद्ध और मशहूर भाषाविज्ञानियों ने भारतीय भाषा-चिन्तन को लेकर गंभीर टिप्पणी की है; और स्तुति भी। यह भयावह स्थिति तब है जब अंग्रेजी का प्रचार है, लेकिन पाठक नहीं; वहीं हिन्दी भाषा के पास गंभीरतम पाठक हैं तब भी उसका प्रचार नहीं है। खैर! भव्ष्यि इसका अवश्य इंसाफ करेगा।